मुझे भी कुछ कहना है

विचारों की अभिव्यक्ति

46 Posts

1665 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 1876 postid : 738

सचिन जी के लाजवाब बाउंसर का जवाब (कविता/हास्य-व्यंग्य))

Posted On: 15 Jun, 2010 Others,मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

ये पोस्ट खासकर alrounder जी के लिए हैं…….जिन्होंने बड़ी मेहनत से बाउंसर फेंका, पर हमें आउट ना कर सकें……दुबारा बाउंसर फेंका, फिर भी हम बच गए…….आप चाहे तो आप भी एन्जॉय कर सकते है……..इसे सिरिअसली न लें…..ये तो सिर्फ एक मजाक का मजकिया जवाब है…….

वैधानिक चेतावनी: अगर आप सब टी वी देखते है तो आप इसका भरपूर मज़ा ले पाएंगे….

ये पंक्तियाँ वो हैं जो alrounder जी ने हमें अपने पहले ओवर की सांतवी बॉल पर बाउंसर फेंका था….

अब कौन सामने है aditikailash
अब मेरे सामने हैं अदिति कैलाश !
आम ब्लोगर्स मैं थोड़ी सी ख़ास !
भीषण गर्मी मैं सर्दी का एहसास !
फोटो से नहीं होता उम्र का आभास !
ये कहाँ से आ गई लिखती झकास !
पर तुमको मैं बोल देता हूँ बिंदास !
देखें कैसे होता है तुम्हारा पप्पू पास

ये हमारा पहला जवाब
allrounder ji,
बहुत दिनों से आपके बाउंसर का इंतजार था…..आपने कब चुपके से डाल दिया पता ही नहीं चला……हमारी बिंदास बातों से डर तो नहीं गए थे……हमने आपके बाउंसर का जवाब बाउंसर से ही दिया है, बुरा मत मानियेगा….
आपको शुभकामनायें….

पहले ओवर में ही आप, डाल गए नो बॉल
सोचो क्या होगा फ़ाइनल में आपका हाल
कर लो जितनी कोशिश कर सकते हो फिलहाल
नहीं चाहते रह जाये आपके मन में कोई मलाल
मन में कोई मलाल लिखेंगे अपना ब्लॉग झक्कास
ब्लॉग पढके आपको भी हो जायेगा ये अहसास
सोचा फिर भी बता ही दे आज आपको बात एक खास
अब तक तो हुआ है आगे भी होगा हमारा पप्पू ही पास


alroundar जी का दूसरा बाउंसर
टी-२० मैं शामिल सभी खिलाडियों मैं से ७ खिलाडियों पर मैंने अपने तेज़ bouncer फेंके, मगर उनमें से ज्यादातर खिलाडियों ने मेरे bouncer का जवाव झुककर देने मैं ही अपनी भलाई समझी मगर उनमें से कुछ खिलाडियों ने मेरे bouncer का जवाव बहुत खतरनाक ढंग से दिया है, अब मैं उन खिलाडियों पर अपने इस ओवर मैं दोबारा bouncer फ़ेंक रहा हूँ देखता हूँ इस बार वे कैसे इसका सामना करते हैं !
अदिति कैलाश :-

क्या कहती हो तुम , मुझे भी कुछ कहना है !
तो हम लोगो को यहाँ क्या चुप रहना है ?
चुप रहके तुम्हारे लिखे लेखों को सहना है ?
सुनिए F . I . R की चंद्रमुखी चौटाला !
हमें पता चला, तुम और तुम्हारे चाचा जी R .K खुराना
मिलकर करने वाले हो चुनाव मैं घोटाला !
मगर पापा कसम हमने भी इसबार ऐसा BOUNCER डाला !
की तुम्हे चंद्रमुखी से लापतागंज की सुरीली बना डाला !
अरे संपादक जी आप भी यहाँ पर गैर कानूनी कार्य करवा रहे हो !
बाल-श्रम कानून मैं वर्जित है फिर इस नन्ही सी जान से इतनी मेहनत करवा रहे हो!
अगर ये इनाम जीती तो इस प्रतियोगिता पर स्टे लगवा दूंगा !
बाल श्रम को बढ़ावा देने के लिए आपको भी अन्दर करवा दूंगा



बहुत मज़ा आया आपका दूसरा बाउंसर झेल कर…पर फिर भी आप हमें आउट नहीं कर पाए…….वैसे कोशिश बहुत अच्छी की थी……बहुत मजा आया बैटिंग करने में…..तो चलिए अब आप भी झेलिये हमारा दूसरा बाउंसर……

allrounder allrounder का शोर मचाते हो
बैटिंग के टाइम पे कहाँ जाके छुप जाते हो
सही पहचाना गुलगुले तुमने
हम हैं FIR की
चौटाला चंद्रमुखी

भूलना मत जरुरत में बन सकते है
तारक मेहता की सूरजमुखी
अरे तुम क्या सुरीली बना के हमारी आवाज़ दबाओगे
पापा कसम कहते हैं गुड्डू, प्रशंसकों से बहुत मार खाओगे
ना करना भूल समझने की हमें इलाहाबाद वाले शर्मा
गलत बात सुनके हमारा भी दिमाग जाता है गरमा
अभी भी बहुत वक़्त है
संभल जाओ प्यारे
श्री आदि मानव आके नहीं तो
कर जायेंगे तुम्हारे वारे न्यारे
फिर न कहना हमने नहीं था समझाया
अरे छोडो लैपटॉप, ये सब तो है मोहमाया
सुन लो तुम जीतेगा पप्पू और बजेगा हर तरफ बाजा
रह जाओगे तुम खटखटाते चंदारानी का दरवाज़ा
रह जाओगे तुम खटखटाते चंदारानी का दरवाज़ा


| NEXT



Tags:           

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (5 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

59 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Eldora के द्वारा
May 25, 2011

That’s the best awnesr of all time! JMHO

allrounder के द्वारा
June 16, 2010

पापा कसम अदितिजी आप की बजह से हमारा असली नाम सबके सामने आ गया अब Allrounder से सचिन हो गए ! आपने हमारे खिलाफ जो राजनीती चलाई है पापा कसम हम कल ही night show राज्नीति देखकर आये हैं, और फिल्म देखकर हमको लग रहा है आप तो बन गई नायिका कटरीना कैफ और रणवीर कपूर याने हमें जनता ने बना दिया विल्लेन मनोज बाजपाई ! अब प्रतियोगिता तो ख़तम हो गई मगर हम मनोज बाजपाई बनकर आपको अपने लेख मैं इसका करारा जवाव देंगे ! इंतज़ार कीजियेगा ! Allrounder

    aditi kailash के द्वारा
    June 16, 2010

    सचिन जी, आपको हमारा शुक्रगुजार होना चाहिए की हमने आपकी असली पहचान लोगों के सामने लाई….. लगता है आपके दिलो-दिमाग पर राजनीति चढ़ गई है….इसीलिए हमें कटरीना कैफ बना दिया…..अब राजनीति देखनी ही पड़ेगी लगता है…..पर क्या करें हम ऐसी जगह में रहते हैं जहाँ एक भी अच्छा थियेटर नहीं है…….एक है, पर वहां भी अगर फिल्म देखो तो लगता है अपने आप को सजा दे रहे हैं…….हमने आपका लेख पढ़ लिया और जवाब भी दे दिया…….

kaushalvijai के द्वारा
June 16, 2010

अदिती जी , सुप्रभात, मन में कोई शिकवा न हो, इसलिए सबसे पहले नमस्कार करता हूँ. आप दिल से भी बहुत अच्छी है, इसलिए आप के ब्लॉग को पढता हूँ.

    aditi kailash के द्वारा
    June 16, 2010

    कौशल जी, नमस्कार…..हमारे मन में कोई शिकवा-गिला नहीं है…….बस आज कुछ व्यस्त थे…..आपकी टिप्पणी पढ़कर मजा आया…..

shashiranjanmishra के द्वारा
June 16, 2010

अदिति जी और आल राउण्डर जी की ब्लोगों की घमशान, अन्तः भाव मुखरित हो रहे हैं पाठक परेशान | हैं परेशान सब पाठक यहाँ निज हाथों बनते खल्वाट, काव्यधरा में यह कैसी हो चुकी शुरुआत | (साभार: मिसिर पुराण)

    aditi kailash के द्वारा
    June 16, 2010

    शशि जी, आप इसे गलत ना समझे…….ये तो बस कल के व्यस्त समय में चेहरे पर मुस्कान लाने की कोशिश थी…….ये तो बस मजाक का एक मजाकिया जवाब था….. इससे न तो सचिन जी के दिल को ठेस पहुंची और ना ही मेरे दिल को ….बल्कि हम दोनों ने ही बहुत एन्जॉय किया इसे…… आपका आभार……

    shashiranjanmishra के द्वारा
    June 16, 2010

    अदिति जी, हमने भी यही किया, एक छोटा सा हास्य इस गर्मी में हास्य फुहार कि छोटी सी बरसात…

    aditi kailash के द्वारा
    June 16, 2010

    शशि जी, आपकी हास्य की फुहार ने पूरी तरह भीगा दिया…….और गर्मी से थोड़ी राहत भी मिल गई…. आपका आभार….

    Anisha के द्वारा
    May 25, 2011

    It’s sopoky how clever some ppl are. Thanks!

allrounder के द्वारा
June 15, 2010

पापा कसम आपने क्रिकेट से हमारे लगाव के वारे मैं कहकर हमारी दुखती रग पर हाथ रख दिया ! नेट की दुनिया आजतक हमें Allrounder के नाम से जानती है, मगर आज हम अपना असली नाम आपको बताते हैं जिससे आपको हमारे क्रिकेट प्रेम का पता चल जायेगा ! हमारा असली नाम है सचिन देव ! दो महान खिलाडियों का संगम तेंदुलकर का सचिन कपिल का देव ! वो तो वक़्त ने हमें धोखा दे दिया बरना पापा कसम हम इंडियन टीम मैं खेल रहे होते ! ऐसा लगता है …….. वैसे आपने हमें खूब पहचाना !

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    पापा कसम गुड्डू, सचिन भी बड़ा अच्छा नाम है……आप इंडियन टीम में नहीं खेल पाए कोई बात नहीं आप नेट की दुनिया में अपना नाम कर सकते हो………आप स्पोर्ट्स ब्लॉग क्यों नहीं लिखते……..

    Carli के द्वारा
    May 25, 2011

    Wow, that’s a really clever way of thiinkng about it!

    Ducky के द्वारा
    May 25, 2011

    Good point. I hadn’t thouhgt about it quite that way. :)

allrounder के द्वारा
June 15, 2010

अदितिजी आपके आभार के लिए आभार ! पापा कसम हमको लगता है अपने bouncer से हम आपको घायल कर पाए न कर पाए मगर, आपके द्वारा हमारे ऊपर फेंके गए bouncer से कई १२ वें खिलाडी घायल हो गए ऐसा लगता है ! मुझे लगता है हमारे बीच की व्यंगात्मक, स्वस्थ प्रतिस्पर्धक लड़ाई को कुछ खिलाडी काफी गंभीरता से ले रहे हैं ! मगर आपके साथ इस मनोरंजक मैच मैं मैंने काफी लुत्फ़ उठाया इसके लिए आपको धन्यबाद ! अगर मेरे द्वारा आपकी या किसी बारहवें खिलाडी के मान की हानि हुई हो तो मैं छमाप्रर्थी हूँ ! प्रतियोगिता की इस पूर्व संध्या पर एक बार फिर मेरे सभी प्यारे bloger बंधुओं को शुभकामनायें ! Allrounder All the west

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    पापा कसम गुड्डू हमें भी बड़ा मजा आया हमारे बीच की इस व्यंगात्मक, स्वस्थ प्रतिस्पर्धक लड़ाई में……वैसे ये डायलोग हमें बड़ा पसंद है….. अब घायलों का हम कुछ नहीं कर सकते…….अब कोई फुल टॉस बॉल के सामने खुद ही आ जाये तो हम क्या कर सकते है……..वैसे लगता है आपको क्रिकेट से बड़ा लगाव है लगता है……….

    Caden के द्वारा
    May 25, 2011

    Fell out of bed feeling down. This has brigthened my day!

Chaatak के द्वारा
June 15, 2010

Nice batting!!

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    चातक जी… आभार….बस एक छोटी सी कोशिश थी……

NIKHIL PANDEY के द्वारा
June 15, 2010

अदिति जी आप लाजवाब है … सोच ये रहा हु की आपने आने में इतनी देर क्यों कर दी …आपकी कलम हर बार जबरदस्त ही रहती है ये निश्चित करपाना कठिन होता है की कौन सी रचना ज्यादा बेहतर है …जागरण मंच पर आप छा गई है लिखती रहिये….. शुभकामनाये………..

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    निखिल पाण्डेय जी, आपका आभार……अभी तो हम सीख रहे हैं ……आपने हमें इस काबिल समझा और हमें इतनी इज्ज़त दी आपका आभार……..

kaushalvijai के द्वारा
June 15, 2010

अदिती जी, दीदी वाली रचना तो मैंने अपने हॉस्टल जीवन में मिले अनुभव के आधार पर लिखी थी. आप वाकई सबसे अच्छी हैं, मै आपको दीदी बनने लिए नहीं कहूँगा. पर आप से कविता के कुछ गुर जरूर सीखना चाहूँगा. आप अपना जीमेल आई डी जरूर दे.

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    कौशल जी, हम भी अभी सीख ही रहे हैं और इस मंच पर ही हमने पहली बार अपने आप को अभिव्यक्त किया है……आपने हमें इस काबिल समझा, आपका आभार….. आप अपने डैशबोर्ड पर जा के प्रतिक्रिया पर क्लिक कीजिये, हमने जहाँ आपको प्रतिक्रिया दी होगी वहां पर हमारा मेल id भी होगा……वैसे हमें भी आपसे बहुत कुछ सीखना है……..

kmmishra के द्वारा
June 15, 2010

हूं sss। इस कविताई बाउंसरबाजी से यह पता चलता है कि दोनो बच्चे टीवी बहुत देखते हैं । बच्चा लोग आज 15 जून है । रिजल्ट आने का दिन । सारी मस्ती आज तक के लिये है । आप दोनो का ही पप्पू पास हो जाये ऐसी मेरी शुभकामना है ।

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    मिश्र अंकल, मिश्र अंकल देखने दो ना टी वी…..अभी तो स्कुल खुलने में बहुत देर है……..हा हा हा हा.. मोहन जी, अंकल मैंने नहीं, ये अथर्व ने कहा, उही जिसकी फोटवा लगी है……वो क्या है ना alrounder जी ने सब टीवी का बाउंसर मारा तो हम रोक नहीं पाए अपने आप को……..लगता है आपका भी फेवरेट चैनल है…..मै तो सभी को कहूँगी देखना है तो सब टीवी देखो….वैसे आपके व्यंग्य पढ़कर लापतागंज की याद आ जाती है……..

kaushalvijai के द्वारा
June 15, 2010

अदिती जी, मैंने आपका सारा ब्लॉग पढ़ा है. कुछ पर कमेंट्स भी दिए . आप बहुत अच्छा लिखती हैं: “सोने को नहीं जरूरत ,पहचान की, कीचड़ में भी पहचाना जाता है. जो कल के सूरज हैं, उनको न संभाला जाता है”.

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    कौशल जी, आपका आभार….पर आपको दुःख पहुचना हमारा मकसद नहीं था….. आप भी बहुत अच्छे कवी हैं….बहुत ही अच्छा लिखते हैं……..इसी तरह लिखते रहिये…..

    Jalen के द्वारा
    May 25, 2011

    THX that’s a great anwesr!

    Luckie के द्वारा
    May 25, 2011

    Good to see a tnaelt at work. I can’t match that.

kaushalvijai के द्वारा
June 15, 2010

अदिती जी, मेरा मंतव्य तो ऐसा नहीं था. बात बस प्रतियोगिता की थी. कुछ दिनों से मेरा ब्लॉग आपके कमेंट्स से वंचित रहा. मुझे खेद है,

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    देखिये कौशल जी, अगर आप किसी से सम्मान चाहते हैं तो आपको भी सामने वाले को सम्मान देना चाहिए….आप चाहते हैं की हम आपकी रचनाओं पर कमेन्ट करें तो आप का भी फ़र्ज़ है की प्रशंसा ना सही हमारी रचनाओं पर आप कुछ आलोचना ही कर दीजिये…..अब बाकि लोगों को अच्छी लग रही है तो शायद कुछ तो अच्छा होगा ही……आपने अपनी दीदी वाली रचना पर कमेन्ट के लिए कहा था, पर उस बारे में मेरे विचार आपसे अलग हैं, इसलिए हमने कुछ नहीं लिखा….आपने देखा ही होगा कि अगर हमें कोई रचना अच्छी लगती है तो हम किसी के बिना कहे ही प्रतिक्रिया दे देते हैं, चाहे हम उसे जानते हों या नहीं…….पर हमारा भी तो दिल है…..जब वहीँ व्यक्ति अन्य लोगों कि रचनाओं पर प्रतिक्रिया देता है पर हमारी नहीं तो हमें भी तो बुरा लगेगा ना….ये सिर्फ आपके लिए नहीं हैं और भी कई लोगों के लिए हैं…..इसलिए कई बार हम जानबूझ कर अच्छी रचनाओं पर भी प्रतिक्रिया नहीं देते हैं…….आखिर हमारी भी प्रतिक्रिया का कोई मोल है कि नहीं……. अगर आपको हमारी किसी बात का बुरा लगा हो तो माफ़ी चाहेंगे…….

kaushalvijai के द्वारा
June 15, 2010

अदिती जी, .ब्लॉग तो अपने विचारों को जन-मानस के पटल पर रखने का एक अच्छा माध्यम है. इसमें प्रतियोगिता या मै बड़ा या तू बड़ा की बात ही नहीं है. यह सब तो वाद-विवाद का विषय है. किसी के विचार गलत नहीं होते. यह तो आप पर निर्भर है के आप किस चश्मे से उसे देख रहें हैं.

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    कौशल जी, मैंने किसके विचारों को गलत कहा…..मैं आपकी बात नहीं समझी……कृपया कर समझाए…. आप गलत समझ रहें है……मै यहाँ अपना बडप्पन नहीं दिखा रही हूँ………ये तो बस हमारा और allrounder जी का मजाक-मजाक चल रहा है……..

allrounder के द्वारा
June 15, 2010

पापा कसम चंद्रमुखी जी चौटाला ! हमने रात भर बैटिंग की और तुमने हमारा मैच 15 मिनिट मैं ख़तम कर डाला ! मगर ज्यादा खुश न हो, शांति के बाद तूफ़ान है आनेवाला ! मैच का मजा तभी आता है जब मजबूत हो खेलनेवाला ! गुड लक Allrounder

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    धन्यवाद् जी, वैसे ये सब एक मजाक है…..सिरिअसली ना ले…… क्या करें हम तो ऐसे ही हैं……अब आप ज्यादा प्रक्टिस करेंगे और सिर्फ IPL खेलेंगे तो आपका हाल भी टीम इंडिया जैसा ही होगा ना….

rajkamal के द्वारा
June 15, 2010

आज पहला पत्थर इस पापी की तरफ से- में शायद आप की तरह उन को जवाब नहीं दे पता- अच बदला chukaya

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    बस ये तो एक मजाक है…..सिरिअसली ना लें…….कहाँ थे आप अब तक……

    jack के द्वारा
    June 24, 2010

    अरे भएया यह रिजल्ट कब आएंगा जल्दी बताओ

    aditi kailash के द्वारा
    June 24, 2010

    ब्लॉग स्टार का रिज़ल्ट कब आएगा, ये अगर आपको पता है तो हमें भी बता दें….इस मंच पर सभी इंतजार कर रहे है….ये तो बीरबल की खिचड़ी की तरह हो गया है जो पकता ही नहीं है…..अब तो लगता है इसके लिए भी अनशन करना पड़ेगा…..


topic of the week



latest from jagran