मुझे भी कुछ कहना है

विचारों की अभिव्यक्ति

46 Posts

1665 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 1876 postid : 704

जागरण ब्लॉग महासंग्राम-ओपिनियन पोल (हास्य-व्यंग्य)

  • SocialTwist Tell-a-Friend

newsaजागरण ब्लॉग महासंग्राम-ओपिनियन पोल में आप सभी का स्वागत है……….आखिर ओपिनियन पोल का दिन आ ही गया और जैसा की हमने आपसे वादा किया था, तो हम फिर से हाजिर हैं आपके सामने जागरण ब्लॉग महासंग्राम ओपिनियन पोल लेकर (दोस्तों हमें भी तो कुछ कमाना है, चुनावों के दौरान एक पोल ही तो होता है जब न्यूज़ चैनल वालों की मौज होती है……. राज की बात है, पर चलो आप लोगों को बता ही देते हैं……इस दौर में हम इतना कमा लेते हैं कि चुनाव लड़ने वाले नेताओं तक को जलन होने लगती है……तो चलिए आगे चलते हैं )……. बहुत सारे सवालों पर प्रश्नचिन्ह लगे हैं…..आगे की तस्वीर क्या है?…….कौन जीत रहा है?……कौन हार रहा है? ….. पर सभी के जवाब है हमारे पास (इतने दिनों से हम झक थोड़ी ना मार रहे थे)……..ये सब हम विस्तार से बताएँगे ……पर सबसे पहले आप अदिति कैलाश से मंच का आँखों देखा हाल सुनिए……. अब तक की इस मंच की सबसे बड़ी ख़बरें हैं ……

  1. आज चुनाव प्रचार का आखरी दिन, मंच पर बेतहाशा हलचल…..(पर मुझे अभी तक कोई हलचल दिखाई नहीं दे रही है)……
  2. चुनाव आयोग (जागरण टीम) भी मुश्तैदी से जुटी….रात के १२-१२ बजे तक दे रहीं है चुनाव कार्यों को अंजाम….
  3. सभी उम्मीदवार अपनी-अपनी जीत को लेकर आश्वस्त, पार्टियाँ भी कर रहीं हैं मदद…….
  4. मतदाता (पाठक) भी अपने-अपने मतों का दुरूपयोग करने पूरी तरह तैयार…….


तो ये थी अब तक की खास खबरें …….आज के इस एडिशन में हम आपको बताएँगे हमारे द्वारा किये गए ओपिनियन पोल के परिणाम, हमें पता है कि उसका आपको है बेसब्री से इंतजार, पर थोडा तो थांड रख यार ……आज हमारे साथ यहाँ स्टूडियो में मौजूद हैं चुनाव आयोग के अध्यक्ष (जागरण टीम के मुख्य संपादक), जिनसे हम बातें करेंगे जागरण महासंग्राम के बारे में ……. और साथ ही हम बातें करेंगे स्टूडियो में मौजूद बड़ी-बड़ी पार्टियों के कुछ नेताओं से……. पर ये सब बस कुछ ही देर में…..तो कहीं जाइएगा नहीं, बस हम अभी हाजिर होते हैं एक छोटे से ब्रेक के बाद……….

YouTube Preview Image

ब्रेक के बाद आपका फिर से स्वागत है……..तो हम बात कर रहे थे जागरण महासंग्राम की……ग़ज़ब का इलेक्शन है ये…… अजब का माहौल है (अजब प्रेम की गजब कहानी की तरह, जहाँ सब कुछ अजब-गजब ही होता है) …..इतना ज़्यादा इलेक्शन का माहौल तो शायद भारत के लोकसभा चुनावों में भी नहीं दिखा……..जो जिस से मिल रहा है वो यही पूछ रहा है कि क्या लग रहा है? कौन जीतेगा?……. कौन बनेगा स्टार और किसकी होगी हार…….( कोई भी जीते कोई भी हारे, हमें क्या करना, हमारी दुकान तो चलनी ही है…….करा देंगे लोगों का थोडा बहुत मनोरंजन….)…तो आइये सबसे पहले हम बातें करते हैं स्टूडियो में मौजद चुनाव आयोग अध्यक्ष पटेल जी से……..

पटेल जी आपका जागरण महासंग्राम ओपिनियन पोल में स्वागत है…….सबसे पहले तो हम आपको बधाई देना चाहेंगे कि आपने लोगों को बहुत अच्छा मंच दिया अपने विचार व्यक्त करने (नहीं तो बेचारे हम सभी को हर जगह से खदेड़ा जा चूका था, बहुत बड़ा दिल है आपका….)…वैसे ये बहुत बड़ी जिम्मेदारी वाला काम रहा होगा ना आपके लिए……

पटेल जी- “सही कहा आपने, हमने भी नहीं सोचा था कि ब्लॉग स्टार को इतने ब्लोगर्स मिल जायेंगे (आजकल हिंदी पढता ही कौन है, हमारा खुद का पेपर भी कितने सालों से घाटे में चल रहा है, वो तो अच्छा है हमने लैपटॉप का लालच दे दिया)…….१५०० से अधिक ब्लोगर्स, लगभग 4000 ब्लॉग पोस्ट और लाखो में पाठक, इन सब को संभालना एक पल तो बहुत मुश्किल लग रहा था……..पर हमारे संपादकों ने अपना काम बखूबी निभाया और अपनी आँखे जला कर (और कभी-कभी दिल-दिमाग और गुर्दा भी) एक एक पोस्ट पढ़कर हीरे की तरह छांटकर फीचर पोस्ट निकाले……..(काहे ही जिम्मेदारी साहब, बस आँख मूंद के लॉटरी निकाल लेते थे, जो निकल गया उसको फीचर कर देते थे)….हमें बहुत ख़ुशी हो रही है कि अब परिणाम का समय आ गया है (चलो हमारी तो झंझट दूर होगी) और कल आपको हमारा ब्लॉग स्टार मिल जायेगा…”

“अच्छा पटेल जी आप आने वाले ब्लॉग स्टार के बारे में कुछ हिंट देना चाहेंगे…..”
“देखिये इसके बारे में हम अभी से कुछ नहीं बता सकते है….थोडा तो इंतजार कीजिये…..(मुझे खुद नहीं पता तो मैं आपको क्या बताऊँ, अब जाकर सोचना पड़ेगा कि किस आधार पर चुने..)”

“पटेल जी आपका इस मंच पर आने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद”
“आपको भी बुलाने के लिए धन्यवाद् (वरना हमें टी वी पर बुलाता कौन है…)”

तो ये थे पटेल जी, जो बहुत कुछ बता कर भी कुछ नहीं बता गए……हमें पता है आप आनेवाले वक्त को जानने के लिए बावले हुए जा रहे हैं……पर इतनी जल्दी भी क्या है……कीजिये थोडा और इंतजार, हम अभी वापस आते हैं एक बहुत ही छोटे से ब्रेक के बाद…….

YouTube Preview Image

ब्रेक के बाद एक बार फिर से जागरण ब्लॉग महासंग्राम-ओपिनियन पोल में आपका स्वागत है……चुनावों का मौसम है, और गर्मी भी अपने चरम पर है……आपमें से हर कोई जानना चाहता है कि आगे क्या होने वाला है?…हम बताएँगे (इसी लिए तो हम यहाँ पर आये हैं, एक दो ब्रेक और हो जाने दीजिये) पर उससे पहले आइये बात करते है कुछ प्रमुख पार्टियों के नेताओं से……..आज हमारे स्टूडियो में मौजूद हैं गधा पार्टी के नेता गधेश्वर दयाल, मेंढक पार्टी के नेता टर-टर सिंह, गिरगिट पार्टी की नेता रंगबिरंगी देवी और कुत्ता पार्टी के टोमी प्रसाद……आइये इनसे हम आने वाले चुनावों के रुझानों के बारे में बाते करते हैं…….तो सबसे पहले बात करते हैं टर-टर सिंह से

“आप बताइए आपको क्या लगता है, कौन ले जायेगा ये ख़िताब”
“देखिये बहन जी, हम मेंढक पार्टी के उम्मीदवार के होते हुए कोई और जीत सकता है क्या…..हमने तो इतनी बड़ी-बड़ी छलांग लगाई है कि जनता भी देख के हैरान है…..सारे वोट तो हमें ही मिलने वाले हैं (जुगाड़ जो कर लिया है हमने, अपने भाई-बंधुओं को भी गांव से बुला लिया है हमने फर्जी वोट करने)”

“गधेश्वर दयाल जी मंच पर आपका स्वागत है…..जैसा कि अभी अभी आपने सुना कि टर-टर सिंह कह रहे थे कि उनका उम्मीदवार ही जीतने वाला है, आपके क्या विचार हैं इस बारे में…”
“सिस्टर ये भी कोई पूछने कि बात है……अगर आप जाति का अनुपात देखे तो मतदाताओं में सबसे ज्यादा तो हमारा ही अनुपात है…..फिर कोई अपनी जाति भूलता है क्या……मेढक पार्टी के उम्मीदवार ने उछलने के अलावा किया ही क्या है…….काम तो हमने किया है अपने भाई-बंधुओं के लिए…..उनकी परेशानी को लोगों के सामने लाकर……..एक बार हम जीत जाएँ, फिर उनकी सारी परेशानी भी दूर कर देंगे”

“गधेश्वर दयाल जी का तो कहना है कि उनकी गधा पार्टी ही चुनकर आएगी, रंगबिरंगी देवी अब आप बताइए आप क्या सोचती है…..”
“देखिये, क्या नाम है आपका, हाँ अदिति जी……आप भी एक नारी हैं और मैं भी एक नारी……नारी से अच्छा सितारा कोई हो सकता है क्या….हमारी पार्टी की उम्मीदवार तो इतनी काबिल हैं कि पल-पल रंग बदलती रहती हैं (रंग बदलने में माहिर जो हैं वो) और हर रंग में उनका रूप और ही निखर जाता है……कोयले की तरह काली हैं पर काले रंग में भी खूब जंचती हैं….फिर नारी सशक्तिकरण का जमाना है, जीतेंगी तो हमारी ही उम्मीदवार…”

“टोमी प्रसाद जी आपका क्या कहना इस बारे में…..”
“मैडम जी, आप टेंशन क्यूँ लेते हो, हमने तो पूरा प्रबंध कर रखा है……(दारू, पैसे सब कुछ बाँट चुके हैं)……सारे मतदाता तो अब हमारी मुठ्ठी में हैं…..जीत तो हमारी ही होगी….”

“आप सभी सज्जनों और देवियों का इस मंच पर आने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद् ” (जो कहीं से सज्जन और देवी नहीं दिख रहे हैं, अब नेता भी क्या इंसानों में गिने जाते हैं)………

तो लीजिये अभी आपने सुना गधा पार्टी के नेता गधेश्वर दयाल, मेंढक पार्टी के नेता टर-टर सिंह, गिरगिट पार्टी की नेता रंगबिरंगी देवी और कुत्ता पार्टी के टोमी प्रसाद को…….सभी को भरोसा ही नहीं पूरा विश्वास है कि उनका ही उम्मीदवार जीतेगा…….पर क्या होगा ये तो कल ही पता चलेगा…….पर अभी भी हमारे सुपरहिट, सबसे फिट और सबसे सही ओपिनियन पोल का रिजल्ट आना बाकी है, तो कहीं जाइयेगा नहीं, अभी लौटेगे एक छोटे से ब्रेक के बाद……

YouTube Preview Image

ब्रेक के बाद आपका फिर से स्वागत है…….तो हम बात कर रहे थे अपने ओपिनियन पोल की…… न्यूज़ चैनल सर्वे के स्वर्णिम इतिहास में यह पहला अवसर है जब करीब (सिर्फ) दो रिपोर्टरों की ओर से ये ओपिनियन पोल किया गया (क्या करें और कोई मिला ही नहीं, पिछली बार तो एक से ही काम चलाना पड़ा था)……..जिसमें उन्होंने २० वोटरों से उनकी राय ली (ये वहीँ २० लोग हैं जो टॉप २० में आये हैं, बाकी लोगों ने तो कुछ भी कहने से ही मना कर दिया…वैसे पिछली बार तो केवल ५ लोग ही चंगुल में आये थे….)

ओपेनियन पोल में जो सैंपल मिला है, उससे बहुत ही चौकाने वाले परिणाम सामने आ रहे हैं ……..आज तक के ओपिनियन पोल के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ कि इतने सटीक परिणाम आयें हो…….सैम्पल से साफ साफ़ लगता है कि चुनाव या तो कोई पुरुष जीतेगा या कोई नारी…..१००% लोगों की यहीं राय है…..जिन्होंने अभी-अभी आपने टी वी सेट ऑन किये है उन्हें बता दे कि अब तक की सबसे बड़ी खबर ये आ रही है कि चुनाव या तो कोई पुरुष जीतेगा या कोई नारी (कितनी बड़ी खबर है यार, अच्छा हुआ आपने बता दिया, वरना हम तो सोच रहे थे कोई किन्नर ना बाजी ले जाये)……..

अगर हम मुख्य मुद्दों कि बात करें तो इस पोल में 34 फीसदी वोटरों ने भड़ाभड ब्लॉग छापने की क्षमता को मुख्य मुद्दा माना (छापे जाओ छापे जाओ, एक दिन में १००-१०० छापो, कोई पढ़े या मत पढ़े और चाहे आप खुद भी मत पढो….और संपादकों के सिर का दर्द बढाओ, पढना तो उन्हें ही पड़ता है ना)……. जबकि 29 फीसदी लोगों ने फालतू पोस्ट पर मिली प्रतिक्रियाओं को मुख्य मुद्दा माना (जो हमने पैसे दे कर लिखवाई हैं) ……….. 8 फीसदी लोगों ने ब्लॉग पर आये मेहमानों की संख्या को (जो कि हमने पता नहीं कहाँ कहाँ से पकड़ के लाये थे )…….. और 7 फीसदी लोगों ने एक दुसरे पर उछाले गए कीचड को इस चुनाव में सबसे अहम् मुद्दा माना……बाकी के बचे २२ फीसदी लोगो के लिए तो कोई मुद्दा था ही नहीं…..जिधर दम-उधर हम…..

graphतो चलिए अब बात करते हैं वोटों की……..हमारे ओपिनियन पोल में जो तस्वीर मिल रही है वो बहुत ही रोचक है…….काफी उतार-चढाव देखने मिल रहें हैं….कभी कोई आगे निकल रहा है, कभी कोई (अभी गिनती चल ही रही है, जब तक ख़तम नहीं होती, इसी तरह फालतू की बकवास करनी पड़ेगी)…….. कभी भाईजी आगे हैं तो कभी मोहन जी तो कभी खुराना जी……..नहीं नहीं अब शंकर जी, त्रिपाठी जी, शर्मा जी, मिहिर जी और alrounder जी बराबरी पर चल रहे हैं…….. अरे ये क्या अजय जी, निखिल जी, उपदेश जी, अदिति जी और शशांक जी ने तो सब को पीछे छोड़ दिया……..भगवान जी, सोनी जी, सिद्धांत जी, अतुल जी, कौशल जी, अरुणेश जी और रज़िया जी ने भी बहुत अच्छी वापसी की है………क्यूँ कन्फ्यूज़ हो गए ना……..(मैं खुद कन्फ्यूज़ हूँ……… यार जल्दी करो ना, कब तक मैं यूँ ही टॉम एंड जेरी खेलती रहूँ)……हाँ तो मैं कह रही थी, मुकाबला बहुत ही रोचक है……कुछ भी साफ-साफ दिखाई नहीं दे रहा है….(अन्दर वाले दिखायेंगे तब तो दिखाई देगा, ये महेश को भी आज ही बीमार होना था)……हाँ अब कुछ-कुछ साफ दिख रहा है…….हाँ तो हमारे सबसे सुपरहिट, सबसे फिट और सबसे सही ओपिनियन पोल का रिजल्ट आ चूका है……..तो हमारे ब्लॉग स्टार के ओपिनियन पोल का रुझान जाता है……..ये क्या…….सभी T20 प्रत्याशियों की ओर (अरे ये क्या, सभी प्रत्याशियों को ५-५% वोट मिलें हैं)…… और सभी के जीतने की समान संभावना है (अब सभी ने अपने आप को ही वोट दिए तो रिजल्ट तो यहीं आएगा ना)………तो फिर असली रिजल्ट आते तक खुशियाँ मनाइये……. और आने वाले रिजल्ट के लिए आप सभी को हमारी तरफ से बधाइयाँ ……..

| NEXT



Tags:               

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (7 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

53 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Zyah के द्वारा
May 25, 2011

Cool! That’s a clever way of lkooing at it!

rajkamal के द्वारा
June 15, 2010

अक्सर शमा भी कहा जान पाती है की था कौन सा वोह परवाना जिसके जलने से उस की लो में इस कदर रोशन हुई ……… अगली लाइन फिर कभी क्योंकि वोह बनी ही नहीं…

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    क्या बात है आप इतने चुप चुप है……वैसे किस परवाने की बात कर रहें है और किस शमा की……और आपकी रचना ४ कहाँ है…….हम कब से इंतजार कर रहे हैं……. आपने नीचे वाला कमेन्ट पढ़ा या नहीं……

    rajkamal के द्वारा
    June 15, 2010

    अभी to आप सब के रहमो- करम से रचना पार्ट -३ आना है- अभी आ कर इतनी तेज पोस्ट की आंधी में अपना सत्यनास करवाना सरासर बेवकूफी होगी- में इस आंधी के बाद शीतल पवन के बहने का इंतज़ार कर रहा हु- वेसे उस शमा के निशान मेरे ब्लॉग पर पड़े है- लेकिन परवाने तो शायद उसके जलने के बाद ही नज़र आयेंगे-

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    आप पहेलियाँ क्यों बुझा रहे हो…..सही सही बताओ…क्या बात है…….आपकी रचना का इंतजार रहेगा……आपने मेरे ओपिनियन पोल पर कमेन्ट नहीं दिया…..

    rajkamal के द्वारा
    June 15, 2010

    उसके लिए इसको पड़ना पड़ेगा पूरा – ऐसा लगता है की अब अगर में सचाई भी बताता हु तो लोग उसको मजाक समझते है- वेसे तो यह लक्षण अच्छे है-l अब जब सर मुंडवा लिया है तो ओलो से डर भी लगता है-

    aditi kailash के द्वारा
    June 16, 2010

    तो पढ़ लीजिये ….वैसे आप बिना पढ़े भी काफी सटीक प्रतिक्रिया देते हैं……

    Rangler के द्वारा
    May 24, 2011

    That’s way more cveler than I was expecting. Thanks!

aditi kailash के द्वारा
June 15, 2010

कुछ लोगों को शायद कोई गलतफहमी हो गई है….हमने ये लेख किसी को नीचा दिखाने के लिए नहीं लिखा था…वो बस एक व्यंग्य था, उसे क्यों कोई अपने ऊपर ले रहा है…..डॉक्टर मानवी जी, ना तो मैं कोई बहुत बड़ी रचनाकार हूँ और ना ही किसी को नीचा दिखाना चाहती हूँ……आप लोगों ने शायद नहीं पढ़ा हो पर कुछ दिनों पहले ही एक नए ब्लोगर ने अपने पोस्ट “गदह पच्चीसी ” में हमारा नाम लेकर हमें गधा कहा था…..हमने तो बुरा नहीं माना….हमने तो यहाँ किसी का नाम भी नहीं लिया…….अब लोगों को क्यों लग रहा है ये किसी खास व्यक्ति के लिए है……हम अपने लिए भी लिख सकते हैं……… वैसे इस व्यंग्य में ज्यादातर हमने अपना ही मजाक बनाया है….. फिर भी अगर इस लेख से किसी की भावना आहत हुई हो तो हम माफ़ी चाहेंगे…….

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    अगर हमारा मकसद किसी को नीचा दिखाना होता तो हमारे ओपिनियन पोल का परिणाम ये नहीं होता……

RASHID के द्वारा
June 15, 2010

कितना अच्छा होता अगर jagranjunction पर एक index होता जो bloggers की position बताता रहता http://rashid.jagranjunction.com

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    रशीद जी, तब आपको ज्यादा टेंशन होती…. अभी तो आराम से बैठ सकते हैं…….

RASHID - Proud to be an INDIAN के द्वारा
June 15, 2010

अदिति जी मेरा क्या होगा,, मेरा ब्लॉग कहा होगा, बस यही चिंता सताए गा रही है http://rashid.jagranjunction.com

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    रशीद जी, चिंता क्यूँ करते हैं………कर्म करते जाइए, फल की इच्छा मत कीजिये….

    Betsey के द्वारा
    May 25, 2011

    You’re on top of the game. Tahkns for sharing.

    Rusty के द्वारा
    May 25, 2011

    Glad I’ve finally found sotemhnig I agree with!

allrounder के द्वारा
June 15, 2010

अदितिजी आपके opinion pole पर मेरा नया bouncer आपके लिए इससे पहले की jagranjunction वाले अभी अभी से इसे हटा दें देख लीजिये , फिर न कहना मैंने बताया नहीं ! Allrounder

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    बहुत मजा आया पढ़ कर ……. हमने भी जवाब दे दिया है “alroundar जी के लाजवाब बाउंसर का जवाब” के रूप में पढ़ लीजियेगा, कैसा लगा बताइयेगा….

parveensharma के द्वारा
June 15, 2010

अदिति जी, व्यंग्य कहीं-कहीं थोडा ज्यादा तीखा हो गया. आपने संपादकों को भी लपेट डाला. ब्लोगर्स को भी नहीं छोड़ा. एक- आधे को तो बक्श देतीं. बहरहाल आपका लेख जबरदस्त है

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    प्रवीण जी, धन्यवाद् ……. अगर आपको कुछ तीखा लगा हो तो माफ़ करें…… हमने तो अपने आप को नहीं छोड़ा तो बाकी की आप क्या बात कर रहे हैं……..

allrounder के द्वारा
June 15, 2010

अदितिजी, आपका चुनावी विश्लेषण पढ़कर ऐसा लग रहा है जैसे T-२० के सभी blogers राष्ट्रीय पार्टियों के नेता हों, और चूँकि दुर्घटनावश मैं भी T-२० की सूची मैं शामिल हूँ इसलिए आपके द्वारा शानदार ढंग से निर्मित राजनितिक वातावरण मैं सम्मिलित होकर काफी उत्साहित हूँ, नतीजा जो भी हो प्रतियोगिता के आखिरी दिन आपके इस राजनीतिकरण से मुझे film Nayak के नायक अनिल कपूर की भांति एक दिन का C.M. होने की अनुभूति हो रही है ! Good luck once again Allrounder

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    Allrounder जी, अच्छा लगा की आप खुश हुए ओपिनियन पोल पढ़कर…….असल में कल क्या होगा किसको पता, तो क्यों ना आज, कल की चिंता छोड़ ख़ुशी मनाएं…बस एक छोटी सी कोशिश है…..अच्छा तो आप बताइए एक दिन का C.M. बनकर आप क्या करना चाहते हैं……. अरे हाँ हमने आज ही कहीं पढ़ा था कि आप अपने पोस्ट पर reply नहीं कर पा रहे हैं…..हर बार invalid कोड का मेसेज आता है……आप देखिये कहीं आप नंबर गलत तो टाइप नहीं कर रहे…….फिर भी अगर यहीं मेसेज आता है तो २-३ बार कोशिश कीजिये…..शायद हो जाये…..मेरे साथ भी कभी-कभी ऐसा होता है……

R K Khurana के द्वारा
June 15, 2010

प्रिय अदिति, बड़ी चालाक हैं आप ! शायद इसी लिए टिकी हुई है ! सबको खुश करने की ललक में कहीं सबको नाराज़ न कर देना ! पोल के लिय साधुवाद खुराना

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    अब आप इसे चालाकी समझे या और कुछ…….लोग नाराज तो तब होते जब हम पोल के बहाने उनकी पोल खोल देते……..आप तो समझ ही रहे होंगे हम किस पोल की बात कर रहे हैं……. प्रतिक्रिया के लिए आभार……

    Candie के द्वारा
    May 25, 2011

    THX that’s a great asnewr!

    Carli के द्वारा
    May 25, 2011

    At last, somenoe comes up with the “right” answer!

NIKHIL PANDEY के द्वारा
June 15, 2010

वाह वाह वाह अदिति जी ,, क्या जबरदस्त एंकरिंग की है आपने मजा आ गया …..महासंग्राम का इतना लाजवाब मंच सञ्चालन आप के हाथ में है तो जाहिर है की श्रोता अपनी सीटो से बंधे ही रहेंगे……आपका ये ओपिनियन पोल सभी का दिल जीत गया होगा … मुझे तो बहुत अच्छा लगा.

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    निखिल पाण्डेय जी, आपको हमारा ओपिनियन पोल अच्छा लगा, आपका आभार………बस हमने अपने न्यूज़ में वादा किया था तो सोचा कि वादा निभा ही दे….वैसे जानना तो सभी चाहते हैं कि रिजल्ट क्या होगा…..

    NIKHIL PANDEY के द्वारा
    June 15, 2010

    अदिति जी मै काफी दिनों से जागरण मंच से अलग रहा हु लगभग २ महीने से तो मै तो इस टूर्नामेंट में कही भी नहीं हु .और वैसे भी नहीं था..खैर .. अब जब मंच पर आया ..तो आपके लेखो से परिचय हुआ .. यकीं मानिये आपका हर लेख शानदार है और मंच पर आप की उपस्थिति ऐसे ही है जैसे इस तपती गर्मी में ठंडी फुहारे…. क्योकि लगातार बौधिक लम्बी चौड़ी चर्चाओ और समस्याओ के पिटारे ने माहौल उबाऊ बना दिया था… पर कुछ अछे कवि गजलकार ,और व्यंगकारो ने मंच को इन्द्रधनुषी बना दिया है.. सभी को शुभकामनाये….

    NIKHIL PANDEY के द्वारा
    June 15, 2010

    और हा अपने व्यंग में हमें भी शामिल करने के लिए धन्यवाद …..

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    निखिल पाण्डेय जी, आपका आभार……आप भी बहुत ही अच्छा लिखते है…..असल में हम जब आये तब आप यहाँ नहीं थे, इसी लिए पहले हम आपको नहीं पहचानते थे……हमने तो ये मंच बस अपने विचारों को अभिव्यक्त करने के लिए ही ज्वाइन किया है और कोशिश चलती रहेगी…..इस मंच पर हमें वाकई में बहुत प्यार मिला है…..हम आप सभी के शुक्रगुजार हैं………

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    ब्लॉग स्टार के ख़िताब के आप भी एक मजबूत दावेदार हैं, तो आपको कैसे भूल जाते……..हमने उसमें सभी का नाम उसी क्रम में लिखा है जिस क्रम में t20 की लिस्ट निकली थी….

Nikhil के द्वारा
June 15, 2010

ये आपके पिछले प्रोग्राम की तरह फारु नहीं है. टी.आर.पी राटिंग मैं हम आपके इस एक्सिट पोल को अवरेग राटिंग देते हैं.

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    निखिल जी, प्रतिक्रिया के लिए धन्यवाद्…….अब क्या करें इतने कम समय में हम बस इतने ही आंकड़े जुटा पाए….लिखना तो हम बहुत कुछ चाहते थे पर लोगों के टूटते दिल की आवाज़ कानों में सुनाई दी……. और हम किसी का दिल जान बुझ कर नहीं दुखा सकते…….

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    वैसे ये ओपिनियन पोल है……जो की वोटिंग के पहले किया जाता है……. ओपिनियन पोल और एक्सिट पोल में थोडा फर्क होता है……..एक्सिट पोल वोटिंग के बाद किया जाता है……..

    Nikhil के द्वारा
    June 15, 2010

    माफ़ कीजियेगा अदितिजी, राजनीति की समझ थोड़ी कम है हमें. सामाजिक मुद्दे ज़रा ज्यादा भाते हैं इसliye ओपिनियन पोल और एक्सिट पोल का फर्क नहीं जान पाया. कभी अपनी पोल भी खोलिए? अपने सफलता के राज की पोल. आभार, निखिल झा

    aditi kailash के द्वारा
    June 15, 2010

    निखिल झा जी, फर्क हमें भी कल ही पता चला…….रही बात अपनी पोल खोलने कि तो वो भी खोलेंगे, सही समय तो आने दीजिये……


topic of the week



latest from jagran