मुझे भी कुछ कहना है

विचारों की अभिव्यक्ति

46 Posts

1665 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 1876 postid : 32

मेरा नया अवतार (हास्य-व्यंग्य)

Posted On: 23 May, 2010 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

जब से मैंने ब्लॉग ज्वाइन किया तब से ही मै कोशिश कर रही हूँ कि मेरी फोटो अपलोड हो जाये. सोचा इसी बहाने नेट पर मेरी फोटो तो आ जाएगी. इसके लिए मैंने ना जाने कितने पापड़ बेले. सबसे पहले १०००० का नया कैमरा ख़रीदा. पुराना कैमरा बहुत पुराना हो गया था ना, सोचा फोटो अच्छी नहीं आएगी. कभी इस सूट में फोटो खिचवाए, कभी साड़ी में, तो कभी जींस पहन कर. और तो और इसके लिए ५००० कि नई साड़ी भी खरीदी.

काफी मशक्कत करने के बाद आखिर एक फोटो पसंद आ ही गई. सोचा चलो अब इसे अपलोड कर ही दिया जाये. दुनिया को भी तो पता चले हम कितने सुन्दर दिखते हैं. शायद फोटो देख कर ही कुछ लोग हमारा ब्लॉग पढ़ ले. और अगर किसी को फोटो ज्यादा पसंद आये तो कुछ प्रतिक्रिया भी दे दे.

पर हमारी किस्मत इतनी अच्छी कहाँ थी. हजारों बार कोशिशे कि पर फोटो अपलोड ही नहीं हुई. हर बार बस ये ही सन्देश आता कि ‘There was an error in uploading, please try again latter’. ये सन्देश पढ़ कर हमे मोबाइल नेटवर्क वालों कि याद आ गई. आप जब भी कोई नंबर डायल करो बस यही सुनाई देता है ”इस रूट कि सभी लाइन व्यस्त हैं, कृपया थोड़ी देर बाद डायल करें.”

default-avatar-48आखिर हम थक हार कर अपने इस नए अवतार से ही खुश हैं. कम से कम ये हमारी फोटो से तो अच्छा ही दिखता है. आप भी देखना चाहेंगे मेरा नया अवतार……

| NEXT



Tags:       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 3.67 out of 5)
Loading ... Loading ...

8 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

kmmishra के द्वारा
June 22, 2010

हम भी कोशिश में लगे हुये हैं । आपके नये कैमरे और साड़ी का इस्तेमाल नहीं हुआ इसका दुःख है । आपबीती को व्यंग्य में अच्छा तब्दील किया है आपने ।

    aditi kailash के द्वारा
    June 24, 2010

    मोहन जी आपका आभार……कैमरे और साड़ी का क्या है, फिर कभी और इस्तेमाल हो जायेंगे ……..

rajkamal के द्वारा
June 8, 2010

अदिति जी-में अपनी शायरी में अक्सर लिखता हु की ऐ काश खुदा ने हमको यह/वोह बनाया होता – लेकिन आज सोचता हू की कभी ऐसा भी लिखू की ऐ काश खुदा ने हमको लड़की बनाया होता- कुछ और नहीं तो सिक्स्थ सेन्स से ही नवाजा होता-लेकिन शायद में यही पर कुछ ऐसा ही लिख चूका हू- में तो यह सोचता था की यह आप की बेटी की फोटो है-शायद वोह कुछ कहना चाहती है- और इक दिन ऐसा भी आएगा की वोह इतना बोलेगी की आप को उसको कम बोलना सिखाना पड़ेगा-तब शायद आप के ब्लॉग का टाइटल होगा – की -”मुझको चुप मत कराओ-hahahahha

    aditi kailash के द्वारा
    June 8, 2010

    राजकमल जी, बहुत खूब, चलो आज के बढ़ते कन्या भ्रूण हत्या के ज़माने में कोई तो चाहता है की अगले जनम मोहे बिटिया ही दीजो……अच्छा लगा….. वैसे ये हमारी बेटी की नहीं, हमारे बेटे की तस्वीर है………..ये हमारी दीदी के बेटे की तस्वीर है…….अच्छी है ना…….

aditi kailash के द्वारा
May 26, 2010

अंततः मेरा असली अवतार सामने आ ही गया. हुर्रे मेरी फोटो अपलोड हो गई.

    nikhilbs09 के द्वारा
    June 8, 2010

    सबसे पहले तो बधाइयाँ फोटो अपलोड हो जाने क लिए… दुसरे की आप फोटो अपलोड करते करते आप अपने बचपन में बापिस चले गए हैं.. wish u all the best बापिस अपने युग में आने के लिए… :) साभार निखिल सिंह,

    aditi kailash के द्वारा
    June 8, 2010

    निखिल सिंह जी, धन्यवाद……काफी परेशान हुए थे हम फोटो अपलोड करने में………खैर कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती…….और फोटो अपलोड हो ही गई…….अच्छा लगा ना हमारा अवतार…………

    aditi kailash के द्वारा
    June 8, 2010

    अब अपनी तारीफ तो खुद नहीं करनी चाहिए……… पर वो क्या हैं ना हम काफी सुन्दर दिखते हैं और डरते हैं की कहीं अपनी अभी की फोटो लगा दी तो २-४ फिल्मों के ऑफर ना आ जाएँ…….फिल्म-विल्म मिल जाएगी तो ये ब्लॉग कौन लिखेगा……….. इसलिए अपनी बचपन की फोटो देखकर ही खुश हैं…….


topic of the week



latest from jagran